Sleeping Zones

North – New Clients NNE – Lungs Problem, mucus (Not recovering soon), Marriage Life disturb, Worshiping, renunciation NE – Meditaion ENE – Happiness East –

Read More »

वास्तु शास्त्र में ज्ञानेंद्रिय आधार

ज्ञानेंद्रिय सिद्धांत हम सभी यह जानते हैं कि जिस प्रकार वास्तु शास्त्र के सिद्धांत पंचतत्व या पंचमहाभूतओ के इर्द गिर्द घूमते हैं। उसी प्रकार वास्तु

Read More »

वास्तु शास्त्र का पर्यावरण सुरक्षा में योगदान

प्रकृति के साथ तालमेल  प्रकृति के द्वारा बनाए गए सिद्धांतों एवं इनके साथ तालमेल रखते हुए जीवन बिताना ही वास्तु शास्त्र के मर्म में छिपा

Read More »

वास्तु शास्त्र का स्वास्थ्य से संबंध

स्वास्थ्य के लिए विभिन्न वास्तु आयाम:  वैदिक वास्तु शास्त्र में वर्णित सभी दिशा निर्देश पंचतत्व के सिद्धांत के आसपास घूमते हैं। सृष्टि मानव जीवन पर्यावरण

Read More »

भूमि की विभिन्न सकारात्मक एवं नकारात्मक ऊर्जा तरंगे

परंपरागत वास्तु शास्त्र का विषय क्षेत्र  परंपरागत वास्तु शास्त्र में दो प्रकार का अध्ययन किया जाता रहा है एक तो वह जो कि विभिन्न दिशाओं

Read More »

तत्वों की संख्या 5 ही क्यों

सृष्टि के पांच तत्वों के बाद निश्चित रूप से रसायन विज्ञान के छात्रों के गले नहीं उतरेगी क्योंकि उन्होंने तो इन तत्वों (एलिमेंट्स) के विषय

Read More »

वास्तु शास्त्र की पृष्ठभूमि आधार महत्त्व एवं प्रयोग

वास्तु शास्त्र क्या है। परिभाषा & सृष्टि के नैसर्गिक नियमों के अनुसार रहने का नाम ही वास्तु है, अर्थ यदि हम इस संपूर्ण जगत के

Read More »

वास्तु शास्त्र का परिचय एवं वास्तु लाभ

‘‘शास्त्रेणानेन सर्वस्य लोकस्य परम् सुखम् । चतुर्वर्ग फल प्राति श्लोकाश्च भवेभियुवम् । शिल्पशास्त्र परिज्ञान मृत्योपि सुजेथा वृजथम् परम–परमानन्द जनक देवान्मिथे मृथम्। शिल्प बिना नहि जगदीषु

Read More »
Vaastu Tips for Money

Vaastu Tips for Money

थूंक लगाकर नोट कभी ना गिनें। Office की मुख्य टेबल पर खाना रखकर ना खाऐं। टेबल के उपर पैर रखकर ना बैठें। पत्नी का कभी

Read More »
husband & wife

Husband Wife Relationship

किसी व्यक्ति का दूसरे व्यक्तियों के साथ कैसा सम्बन्ध है। यह हम वास्तु एवं ज्योतिष से जान सकते हैं। इन सम्बंधों में सबसे महत्वपूर्ण सम्बन्ध

Read More »
Vaastu tips for students

Vaastu Tips for Students

पढाई के समय किस दिशा में मुंह करके बैठना चाहिए? पढाई के समय हमें किस दिशा में फेश रखना चाहिए। ये जानने के साथ ही

Read More »
Clock Position

Clock Position As Per Vastu

वास्तु अनुसार घडी किस दिवार पर लगाऐं। घर में बन्द घडी कभी भी ना रखें। सभी घडियों का समय एक जैसा मिलाकर रखें। हर कमरे

Read More »
Refrigerator

Refrigerator Position According to Vaastu

आज एक चीज के बिना रसोईघर को अधूरा माना जाता है इसमें हम वस्तुओं को ठंडा रखने के लिए रखते हैं तथा भोजन को लंबे

Read More »
Water Elements

जल तत्व

पानी पृथ्वी की सतह का लगभग 71 प्रतिशत पानी से ढका हुआ है। पानी, प्रकृति के पाँच तत्वों (पंचभूतों) के प्रमुख तत्व में से एक

Read More »
benefits of vaastu

Benifit of Vastu Shastra

▪️ Importance In what ways can Vastu Shastra work?  Architecture, spirituality is very important for every person who is interested in interior designing and who

Read More »

How to Choose Right Land

स्पर्श के आधार पर भूमि का चयन 1. जिस भूमि को स्पर्श करने  पर ग्रीष्मऋतु में ठंडी एंव ठंड की ऋतु में गर्म तथा वर्षाऋतु

Read More »

Choose Land

भूमि चयन भूमि खरीदने से पहले यह देखना होगा की भूमि किस प्रयोग के लिए खरीदी जा रही है। गृह-निर्माण, मंदिर निर्माण, अस्पताल, स्कूल, तालाब

Read More »

Different Lands, Different Effects

भूमि के लक्षण दक्षिण, पश्चिम, नैऋत्य और वायव्य में ऊँची भूमि को गजपृष्ठ भूमि कहते हैं। इस पर निवास करने से लक्ष्मीलाभ एवं आयुवृद्धि होती

Read More »

Animals and Birds in Vastu

पशु–पक्षियों के निवास की फल जिस भूमि पर काक एवं कबूतरों का निरन्तर निवास रहता हो, उस भूमि पर मन्दिर एवं भवन बनाने से रोग,

Read More »

None Leaving Lands

None Leaving Lands : जिस भूमि के समीप श्मशान या कब्रिस्तान हो, तथा जहाँ पशुओं की बलि दी जाती रही हो, वह भूमि निकृष्ट कही

Read More »

Commercial Vaastu

व्यावसायिक वास्तु ब्रह्माण्डीय ऊर्जा व पंचमहाभूतो का ताल मेल बनाते हुए नियमों को लागू करना चाहिए। व्यावसायिक वास्तु के लिए भूमि को परीक्षा, मिट्टी की

Read More »

Industrial Vastu

औद्योगिक वास्तु उद्योगों को तीन श्रेणियों में बाँटा जा सकता है। घरेलू उद्योग लघू उद्योग भारीउद्योग। औद्योगिक वास्तु में भी वास्तु के मूलभूत सिद्धान्त वही

Read More »

Days importance in Vastu

वार रविवार– संगीत,  वाद्यशिक्षा, स्वास्थ्य विचार, औषधि सेवन, प्रशासनिककार्य, मोटर या भान सवारी, नौकरी, पशुक्रय करना, हवन, मंत्र, उपदेश, दिक्षा, शिक्षा, न्यायिक परामर्श, प्रशासनिक निर्णय

Read More »

Land Shapes

भूमि की आकृतियाँ वर्गाकार– इस आकार की भूमि को सर्वश्रेष्ट माना गया है। यह भूमि हमें सुख, समृद्धी, वैभव, एवं मानसिक शांती देती है। क्योंकि

Read More »

Land Slopes

भूमि ढलान– जो भूमि अन्यसभी जगहों से ऊँची होकर ईशान की ओर ढलान होता है। वह भूमि सर्वश्रेष्ट होती है। यदि ढलान पूर्व  की ओर

Read More »

Plot Edges

विभिन्न दिशाओं में कोनों के बड़े या घटने से परिणाम निकलते है। आग्नेय कोण का घटना या बढ़ना– आग्नेय कोण बड़ा हुआ है तो यह 

Read More »

Bhumi Ke Aas Paas Ka Vaatavaran

भूमि के आस–पास का वातावरण– भूमि के दक्षिण एवं पश्चिम भाग की तरफ खड्ड़ा, या पानी का तालाब नही होना चाहिए। भूमि के पूर्व दिशा

Read More »

Colour & Vastu

रंगों का महत्व पीला– बुद्धि बढाता है, गटीया रोग मे लाभदायक हरा– शान्त प्रकृति, गर्मी को कम करता है। क्षयरोग कम करता है। लाल– उत्तेजना

Read More »

सौभाग्य सुचक मुख्यद्वार

सौभाग्य सुचक मुख्यद्वार शुभ पदो मे स्थापित किया गया मुख्य तार परिवार के लिए सुख-सम्बन्धी खुशहाली प्रदान करता है। जो प्राणीक ऊर्जा हमारे सौभाग्य के

Read More »

Vaastu Dosh Niwaran Pooja and Daan Dwara

पूजा एवं दान आदि जिस दिशा में दोष है उस दिशा में पूजा करें ईशान कोण दूषित होने पर उस कोने में गुरूयन्त्र स्थापित करें

Read More »

Disha Dosh Paarinaam

दिशादोष व उनके परिणाम पूर्व दिशा – दरिद्रताए अस्वस्थताए पुत्र, पुत्रीयों सम्बन्धित प्रोब्लम आग्नेयकोण – बच्चो व स्त्रीयों को प्रभावित करता है। स्त्रीयों सम्बन्धित प्रोब्लम

Read More »

Rudraksha

रुद्राक्ष रुद्राक्ष का महत्व हमारे शास्त्रों में उल्लेखित हैं।  ये कितना मुखी होगा तो किस तरह फायदा दे सकता है, इस बारे में बताया जा

Read More »

Panch Mahaa bhut Tatwa

पंचमहाभूत यदि उस भवन में भी अग्नि, भूमि, जल, वायु और आकाश तत्वों का सही ताल मेल रखा जाए तो वहाँ रहने वाली प्राणी शारीरिक,

Read More »

Fengsui

फेंग शुई के उपाय फेंग शुई चीन की वास्तुकला है, जिसका शाब्दिक अर्थ है हवा और पानी। हवा और पानी का सही संतुलन  ही फेंग

Read More »

Vastu Ka Mahaatva

वास्तु शास्त्र का महत्व एवं उपयोगिता हमारी प्रकृति में अनन्त शक्तियाँ हैं, जिससे सृष्टि, विकास और  प्रलय की प्रक्रिया चलती रहती है। वास्तु शास्त्र में

Read More »

Vastu Shashtra Ka Srajan Kyo Hua

गृहभवन, उच्च प्रासाद, दुर्ग-गांव, नगर, मंदिर-देवालय, कूप, तालाब, वापी, मूर्ति निर्माण, स्थापत्य कला, विभिन्न प्रकार के मण्डप, यज्ञ-शालाएं, सभागृह, शिविका, रथ, विभिन्न प्रकार के यान

Read More »

Vastu Tips No. 2

क्या हम जो चीजें जानते हैं वे दुनिया में अधिक हैं या जो नहीं जानते हैं वे अधिक हैं। जैसे – मैं हवाई जहाज उड़ाना

Read More »

Vastu Shastra for Staircase

Vastu verifies to locate staircase of the building in the South or West direction. Staircase is a heavy structure; hence it should be located in negative zones

Read More »

Vastu and Colors

    Colors specify our mind and stimulate energy. The colors have significant effect on our mood, health and happiness. The impact of colors on

Read More »

Vaastu Rules

भवन में विभिन्न कक्षो की स्थिति अलग अलग प्रभाव डालती है वास्तु अनुसार कक्षो की स्थिति यहाँ दी जा रही है। गृह तालिका रहने का

Read More »

Vaastu Tips

क्या हम जो चीजें जानते हैं वे दुनिया में अधिक हैं या जो नहीं जानते हैं वे अधिक हैं। जैसे – मैं हवाई जहाज उड़ाना

Read More »